राजिम के प्रसिद्ध मंदिर

बद्रीनारायण मंदिर

बद्रीनारायण मंदिर

महाभारत के आरण्यक पर्व के अनुसार सम्पूर्ण छत्तीसगढ़ में राजिम ही एकमात्र ऐसा स्थान है जहां बद्रीनारायण का प्राचीन मंदिर है। इसका वही महत्व है जो जगन्नाथपुरी का है, इसीलिए यहां भी महाप्रसाद का ख़ास महत्व है।

राम सीता मंदिर

राम सीता मंदिर

राजीव लोचन मंदिर से थोड़ी दूर पर पूर्व दिशा में राम-सीता मंदिर स्थित है। मंदिर का निर्माण रतनपुर के कलचुरी नरेशों के सामंत जगतपाल द्वारा किया गया था। यह मंदिर 12वीं शताब्दी का है।

पंचेश्वर एवं भूलेश्वर महादेव मंदिर

पंचेश्वर एवं भूलेश्वर महादेव मंदिर

राजीव लोचन मंदिर के पास ही महानदी के तट पर पंचेश्वर एवं भूलेश्वर महादेव के मंदिर हैं। पंचेश्वर मंदिर को9वीं शताब्दी में और भूलेश्वर महादेव के मंदिर को 14वीं सदी में बनाया गया था। इसके अलावा यहां सोमेश्वर महादेव और रामचंद्र जी के भी मंदिर हैं।

घटोरिया महाकाली मंदिर

घटोरिया महाकाली मंदिर

यह मंदिर पुण्य दायिनी महानदी के तट पर स्थित है।

भगवान पार्श्वनाथ मंदिर

भगवान पार्श्वनाथ मंदिर

आज से 15-16 साल पहले भगवान पार्श्वनाथ की तकरीबन 2000 वर्ष प्राचीन प्रतिमा मिलने के बाद, इस मंदिर की स्थापना की गई थी।